Discussions

header ads
Log Mujhse Har Baar Puchte hai tumne usme kya dekha | Romantic Shayari in Hindi
Jism Chhune se Mohabbat Nahi hoti - Love Shayari in Hindi | MeriShayari
गुमसुम मत बैठो पराये लगते हो - Sad Shayari in Hindi
पाबन्दियाँ कदमों पे लगती हैं दिलों पर नहीं  - Love Shayari in Hindi
मुझे तो आज भी उस बेवफा के खुले बाल पसंद है।
 हम ही थे जो तेरे झुमके से आगे न कुछ कह सके
हम जो दे देते है, उसे वापिस नहीं लेते - Attitude Shayari